Mutual Funds में Exit Load क्या होता है?

      Comments Off on Mutual Funds में Exit Load क्या होता है?
exit load in mutual funds

Mutual Funds के कई सारे funds में अगर आप अपनी investment को समय से पहले निकलते हैं तब आपको एक तरह कि penalty देनी पड़ती है जिसको Exit Load कहते हैं. ये penalty आपके द्वारा redeem (निकाले) गए पैसे का लगभग 1% होता है.

सबसे पहले हम देखते हैं कि Exit Load को कैसे calculate किया जाता है. मान लीजिए कि आपने maturity के पहले अपनी investment से 10000 निकाल लिए, तो उस 10000 पर exit load निकलने का formula है.

  • Exit Load = (निकला गया पैसा) * (1 %) इस उदाहरण में exit load होगा
  • Exit Load = 10000 * 0.01 = 100 रूपया

Exit Load क्यों लगाया जाता है?


Mutual Funds में कई सरे investors अपना पैसा एक साथ invest करते हैं. उन पैसों को इकट्ठा करके एक बड़ा amount बनाया जाता है. इस amount को एक तय समय के लिए stocks, bonds या securities में invest किया जाता है. अगर आप समय या maturity period से पहले अपना पैसा redeem करते हैं तो इससे बाकी investors के पैसों पर बुरा असर पड़ सकता है. इससे बचने के लिए exit load लगाया जाता है जिससे नुकसान कि भरपाई हो सके.
इसके अलावा Mutual Fund में पैसा कमाने के लिए आपको थोड़ा समय देना पड़ता है. Exit load यह भी सुनिश्चित करता है कि आप बार-बार पैसे न निकाले और लम्बे समय के लिए invest करें.

क्या सभी Funds में Exit Load लगता है?


नहीं, काफ़ी सारे funds ऐसे हैं जिनको आप जब चाहें खरीद या बेच सकते हैं. ज़्यादातर Debt Funds पर कोई Exit Load नहीं लगता, जबकी ज्यादातर Equity Funds पर exit load लगता है.

कितने समय बाद Exit Load नहीं लगता?


Exit Load हर fund के लिए अलग होता है. ज़्यादातर Equity Mutual Funds पर एक साल से पहले पैसा redeem करने पर 1% का exit load लगता है. Debt Funds में ये समय 1 दिन, 1 महीने या कुछ हफ्तों का हो सकता है.
कुछ Long Term Funds में अलग अलग समय पर पैसे redeem करने पर अलग अलग exit लोड लगता है. आपको funds ख़रीदने के पहले उसका exit load जरुर देखना चाहिए।