Equity Fund vs Debt Fund सही कौन?

      Comments Off on Equity Fund vs Debt Fund सही कौन?

इस सवाल का सबसे सटीक ज़वाब एक investor ही दे सकता हैं क्योंकि यह पूरी तरह उसी पर निर्भर करता है. इन दोनों funds कि अपनी खूबियाँ हैं. देखा जाए तो दोनों अलग -अलग तरीके से निवेशकों के investment objectives को पूरा करते हैं.
आइए देखते हैं Equity और Debt में क्या अंतर है और इनके अपने क्या फायदे और नुक़सान हैं.

इसे भी पढ़े: Mutual Funds में किसे invest करना चाहिए.

Mutual funds कई तरीक़े के हो सकते हैं. Equity Fundsऔर Debt funds इनके दो प्रमुख़ भाग हैं. इन दोनों funds में कुछ सबसे बड़े अंतर जो इनको अलग करते हैं


पैसे को Invest करने की जग़ह
इन दोनों में सबसे बड़ा अंतर यही है. Equity Funds का ज़्यादातर पैसा Stocks या share Market में invest किया जाता है. Debt Funds का पैसा अलग अलग bonds और money market में किया जाता है.

Risk
Equity Funds ज़्यादा risky होते हैं वहीं Debt में risk कम होता है.


Exit Load

Investment करने से पहले इसे भी consider करना जरुरी है. Debt Funds में Exit Load एक दिन, एक महीना या कुछ हफ़्तों का होता है. वहीं Equity में ये समय ज्यादा होता है. ज़्यादातर equity में exit load कम से कम एक साल का होता है.

Equity Fund vs Debt Fund कौन सा चुनें

इस सवाल का जवाब आप ख़ुद से सवाल करके पा सकते हैं. बस आपको नीचे दिए गए points को पढ़कर अपने investment goal के बारे में सोचना है और जवाब आपके सामने होगा!

  • अगर आप ज़्यादा returns/profit चाहते हैं तो आप Equity में invest करिए Debt funds में returns Equity से कम, पर Bank FD से ज़्यादा होते हैं.
  • अगर आप risk उठाने को तैयार हैं तो equity में invest करिए। Debt, equity कि अपेक्षा ज़्यादा सुरक्षित होते हैं.
  • Debt Funds में आपको stable returns मिलते हैं जबकि Equity में returns ज़्यादा unstable या vary करते हैं.
  • Equity Long Term Goals के लिए सही हैं जिसमे आप कम से कम 5 साल invest कर सकें। Debt Funds short term goals को पूरा करने में मदद करते हैं.

इसे भी पढ़े: Mutual Funds में Invest करने के Risk