कोरोना का डर: क्या मुझे अपनी SIP रोक देनी चाहिए?

sip in corona hindi

कुछ बहुत अच्छे Financial Advisers से मैंने इस बारे में राय लेनी चाही तो पता चला उनके clients भी ऐसे ही सवाल पूछते रहते हैं कि:

क्या मुझे SIP रोक देनी चाहिए ?
क्या मुझे SIP कि value कम कर देनी चाहिए ?
क्या मुझे नई SIP शुरू करनी चाहिए?
मेरे returns 20 -30 % नेगटिव हो गए हैं. मैं क्या करू?
क्या मुझे गिरी हुई market में और invest करना चाहिए?

Market के इस मुश्किल दौर में ऐसे सवाल मन में आना कोई बड़ी बात नहीं. बड़ी बात ये है कि इसका सटीक और सीधा जवाब किसी के पास नहीं है.
ऐसा इसलिए है क्योंकि, ये अनिश्चितता का समय है जहाँ किसी को नहीं पता कि आगे क्या होने वाला है. कोरोना से market को कितना नुकसान होगा कोई इस बात का सही अंदाजा नहीं लगा सकता. अगर कोई आपको बता रहा कि क्या होने वाला है तो या तो उसे पता नहीं या फ़िर वो झूठ बोल रहा.

क्या मुझे अपनी SIP रोक देनी चाहिए?

हर investor को एक बात पता होनी चाहिए कि current market को देखकर कभी अपना investment decision नहीं लेना चाहिए.
तो ऐसे में हमें क्या करना चाहिए. SIP का मतलब यही है कि market के उतार चढ़ाव कि चिंता न करते हुए हर महीने invest करना. अगर आप इस समय invest करना छोड़ देते हैं तो आप अपनी ख़रीद कि सही averaging नहीं कर पाएंगे.

इसे भी पढ़िए: Risk के बावज़ूद Equity में क्यों Invest करना चाहिए.

रही बात नई SIP शुरू करने, या गिरी हुई market में और invest करने की. आप ये तभी कीजिए जब आप अपने long term goals के बारे में सोच रहे हों. जल्दी profit कमाने के चक्कर में invest करना काफ़ी risky हो सकता है. पर अगर आप लम्बी अवधि के लिए निवेश करना चाहते हैं तो आपको अच्छे returns मिल सकते हैं.

सबसे जरुरी बात, एक financial adviser के नजरिए से देखें तो market इससे भी ख़राब हालत में जा चुका है. लेकिन जितनी भी बार market गिरी है, हर बार और मजबूत होकर सामने आई है.
याद रखिये मेरे और आप जैसे investors ही market को मजबूत और कमजोर बनाते हैं. हमारी भावनाएं ही market को अच्छा या बुरा बनाती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *